Month: December 2020

नगमा ए इश्क

आओ तुम्हे इश्क का नगमा सुनाते है,फिर वही पुराने गीत गुनगुनाते है। आये थे मेरी जिन्दगी में लेकर बहार तुम,सावन से तेरे प्यार की बगिया सजाते है। देखे थे जो…

होठों पर कोई बात नहीं आती।।

  बचपन के यादों की बरसात नहीं जाती,खेलती मचलती जीवन की शुरुआत नहीं जाती,माँ बाप के स्पर्श का अहसास नहीं जाती,पर जाने क्यूं, होठों पर कोई बात नहीं आती।। दोस्तों…

जाने क्या क्या याद आ रहा है।

हाय¡ तेरी नजरों का झरोखा,जाने क्या क्या याद आ रहा है। यूं तेरा मेरी बाहों में सिमट जाना,तेरा पलको को झुकाकर मुस्कुराना,जाते हुये पलटकर मुखड़ा दिखाना,जाने क्या क्या याद आ…

रंग ज़िंदगी के

आज ख़्वाहिशें अपनी तय करने की कोशिश की,ज़िन्दगी के लम्हों में रंग भरने की कोशिश की।। माँ की ममता में लाली का लाल आया,पिता के हिस्से में सलेटी रंग था…

error: Content is protected !!