Beautiful poem by a boy to his lover,
To make her his life described in a piece of paper.
 
कविता- टुकडे कागज के
 
इन कागज के टुकडो में हमने
सारा जहाँ लिख डाला,
 
रिश्ते जो है तेरे मेरे
दरमियां लिख डाला,
 
लोग कहते है कागज
के टुकडों का कोई मोल नहीं,
तेरे मेरे दरमियां कोई बोल नहीं,
 
चाहे तूने मेरे प्यार को ठुकरा दिया,
पर हमने इन कागज के टुकडों पर
तेरे नाम की दुनिया बसा दिया॥
3 thoughts on “Beautiful short poem of love written in a piece of paper.”

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!