Category: shayari

काश! – कश्मकश जिंदगी की (Kash! – Dilemma of Life)

राघव और प्रिया अपने रिश्ते में लम्बे साथ के बाद किन्ही कारणो या अविश्वास के कारण रिश्ता टूटने लगता है, तो तलाक़ के समय कोर्टरूम के बाहर पति-पत्नी के मन…

वो कौन थी- Wo kaun thi

इक गहरी काली रात थी,धीमी-धीमी बरसात थी।लबों से टपकती बारिश की बूंदे,गर्म सांसों की एहसास थी। देखा उन्हें जब वो खामोश थे,खो गए उनके आगोश में।चेहरा था कुछ अनजाना सा,पर…

नगमा ए इश्क

आओ तुम्हे इश्क का नगमा सुनाते है,फिर वही पुराने गीत गुनगुनाते है। आये थे मेरी जिन्दगी में लेकर बहार तुम,सावन से तेरे प्यार की बगिया सजाते है। देखे थे जो…

error: Content is protected !!