lautkar aaunga main

तुमने वादा किया था, लौटकर आऊंगा मैं।

सहे जो दर्द है तुमने, हर कर्ज चुकाऊंगा मैं॥

     

लेकर हाथ, हाथों में अपने, इन रूखी कलाइयों में,

खुशियां लाऊंगा मैं. लौटकर आऊंगा मैं॥

 

रुख्स चेहरे पर तेरे, मुस्कुराहट लौटाऊंगा मैं।

तेरी खुशियो के खातिर, लौटकर आऊंगा मैं॥

   

ख्वाब देखे जो तूने, अरमान छोडे जो तूने,

करने हर आस पूरी, लौटकर आऊंगा मैं॥

तुमने वादा किया था, लौटकर आऊंगा मैं।।

       

पलकों में बसी गंगा की धार, इन नज़रों को चमकऊंगा मैं।

लेकर काजल तेरी आंखो का, लौटकर आऊंगा मैं॥

       

उलझते केसुओ को तेरी, हाथों से सुलझाऊंगा मैं।

सजाने मांग मैं तेरी, लौटकर आऊंगा मैं॥

         

कंपकपाते कदमों के लिये, बैशाखी लाऊंगा मैं।

बनने तेरे जीवन का सहारा, लौटकर आऊंगा मैं॥

तुमने वादा किया था, लौटकर आऊंगा मैं।।

             

करूंगा याद हर अपने को, दोस्ती भी निभाऊंगा मैं।

मिटाने दिल की दूरियां, लौटकर आऊंगा मैं।।

           

जाकर परदेश में, तेरे, हर गम को मिटाऊंगा मैं।

खाता हूँ सौंगंध माटी की, लौटकर आऊंगा मैं।।

         

भूलकर कसमें देश की, अपनो को न भुलाऊंगा मैं।

तुमने वादा किया था, लौटकर आऊंगा मैं।।

लौटकर आऊंगा मैं।।

If you like the post please like, comment and share to help us.

If you want to post your own thoughts can contact us by email.

7 thoughts on “तुमने वादा किया था”

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!